CID
आजकल के बच्चे क्या समझेंगे

आजकल के बच्चे क्या समझेंगे
हमने किन मुश्किल परिस्थितियों में पढ़ाई की है,
कभी कभी तो मास्टर जी हमें
मूड फ्रेश करने के लिये ही कूट दिया करते थे

बायोलॉजी की लैब में


एक मेंढक ज्योतिषी के पास गया और अपना भविष्य पूछा।
ज्योतिषी: एक लड़की मिलेगी और तेरा दिल ले लेगी।
मेंढक खुशी से उछलते हुए: कहां मिलेगी ?
ज्योतिषी: बायोलॉजी की लैब में।

पंडित की कथा और बीबी की

पंडित की कथा और बीबी की व्यथा एक जैसी होती है
समझ में ज्यादा कुछ नहीं आता,
फिर भी ध्यान लगा-कर सुनने का’ नाटक करना पड़ता है

बिलकुल सही जवाब

गुरुजी - बच्चो, मुझे बताओ कि,
पहले जिस जगह का नाम मद्रास था, अब उसे किस नाम से जाना जाता है ?
बच्चा : चैन्नई
गुरुजी -बिलकुल सही जवाब
अब मुझे बताओ कि चैन्नई ये नाम क्यो रखा गया
बच्चा - सर, वहा के लोग लुंगी पहनते है और लुंगी को pant की तरह चैन नही होती
इसलिये (चैन नही) चैन्नई ये नाम रखा गया
गुरुजी ने pant फटने तक मारा बच्चे को

 

पता चल जायेगा

आपको पता है की पोपकोर्न को गर्म तवे पर रखने पर वो उछलते क्यों है?
नही पता कभी खुद बैठ कर देखना ..पता चल जायेगा

नहीं तो ठंडी लगती है भाई!

इंसान को जितनी चादर हो, उतने ही पैर पसारने चाहिए नहीं तो ठंडी लगती है भाई!

Load more...